पुरुषों में शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज

शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज: संभोग के दौरान समय से पूर्व ही वीर्य का स्खलित हो जाना, शीघ्र स्खलन कहलाता है। पुरुषों में होने वाली समस्याओं में शीघ्र स्खलन(Premature Ejaculation) सामान्य है। जब कोई पुरुष सेक्स क्रिया करने से पहले ही अपना नियंत्रण खो कर वीर्य खो देता है जिससे शीघ्रपतन कहते हैं, इससे सेक्स की उत्तेजना खत्म हो जाती है और नतीजा यह होता है कि सेक्स करने वाले दोनों लोग संतुष्ट नहीं हो पाते।

शीघ्र स्खलन का रामबाण इलाज

अगर लंबे समय तक यूं ही चलता रहे तो पुरुषों के मानसिक स्तर पर इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ता है और वह दबाव, तनाव और चिंता का शिकार हो जाता है। यह व्यक्ति के आत्मसम्मान को प्रभावित करता है।

शीघ्र स्खलन क्या है?

इसे अंग्रेजी में Premature ejaculation (PE) कहते हैं। यदि पहली बार सेक्स करते समय वीर्य जल्दी से स्खलित हो जाता है तो यह सामान्य है, और यह वीर्यपात हमेशा जल्दी स्खलित हो जाता है, तो कोई बीमारी है। वीर्य पात कितनी समय के बाद निकलना चाहिए इसकी कोई निश्चित सीमा नहीं है, क्योंकि यह व्यक्ति के मानसिक और शारीरिक बल पर निर्भर करता है।

शीघ्र स्खलन से शरीर कमजोर, दुबला और अस्वस्थ होता है। चूँकि एक बार सेक्स करने मे 400 से 500 कैलोरी तक ऊर्जा खपत होती है। अपने साथी को संतुष्टि प्राप्त होने से पहले ही 1 मिनट के भीतर आपका स्खलन हो जाए तो उसे शीघ्र स्खलन कहते हैं। इस रोग के कारण रोगी को संभोग करने में डर लगता है। उसे डर रहता है कि यदि वह अपनी पत्नी को संतुष्ट नहीं कर पाया तो कहीं उसकी पत्नी उसे छोड़कर ना चली जाए।

20 से 30 फ़ीसदी पुरुषों में शीघ्र स्खलन की समस्या होती है पर हकीकत में 1 से 2 फ़ीसदी पुरुषों ही इस समस्या से ग्रसित होते है। शीघ्रपतन का इलाज या किसी भी गुप्त रोग का इलाज करवाने के लिए किसी भी बाबा या झोलाछाप डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं है। किसी अच्छे डॉक्टर से ही संपर्क करें।

शीघ्र स्खलन के मुख्य कारण क्या है:

शीघ्र स्खलन कोई रोग नहीं है। यह एक मनोवैज्ञानिक समस्या है और इसका इलाज भी मनोवैज्ञानिक चिकित्सक या कोई सेक्सोलॉजिस्ट कर सकता है।

  • हार्मोन के साथ कुछ समस्याएं होना
  • चोट या कुछ दवाओं के साइड इफेक्ट
  • यौन शोषण
  • डिप्रेशन या तनाव
  • सेक्स करते समय जल्दी स्खलन की चिंता बनी रहना
  • रिश्ते संबंधी समस्याएं भी शीघ्र स्खलन का कारण हो सकती है।
  • प्रोस्टेट या मूत्र मार्ग में संक्रमण
  • अनुवांशिकता
  • मस्तिष्क में न्यूरोट्रांसमीटर के साथ समस्याएं
  • सेक्स के दौरान ज्यादा जोश आना
  • लिंग का अगला हिस्सा जरूरत से ज्यादा सेंसिटिव होना
  • डायबिटीज की शुरुआत
  • खराब खानपान की आदत होना
  • पाचन तंत्र खराब होना
  • अश्लील पुस्तकें पढ़ने वाले, अश्लील फिल्म देखने वाले शीघ्रपतन से पीड़ित रहते हैं।
  • विटामिंस की कमी होना
  • मन में सेक्स को लेकर गलत या गंदी धारणा होना
  • थायराइड संबंधी समस्या
  • हाई ब्लड प्रेशर

शीघ्र स्खलन के उपचार:

हमारे घर में ही आसानी से उपलब्ध ऐसी बहुत सारी चीजें और घरेलू उपचार है जिससे शीघ्र स्खलन को रोका जा सकता है।

शतावरी:

  • शतावरी सेक्स की बीमारियों में बहुत फायदेमंद है। अगर नियमित रूप से इसका सेवन किया जाए तो शीघ्र स्खलन पर बहुत ही असरकारक है।
  • शतावरी का चूर्ण आधा चम्मच दिन में दो बार शहद, दूध के साथ मिलाकर रोज सेवन करने से बहुत ही फायदा होता है।

अदरक(Ginger):

अदरक को पीसकर उसका चूर्ण बना लें। रात में एक चम्मच खाए। शीघ्र स्खलन रुक जाएगा।

जामुन:

जामुन के बीज को पीसकर दो से 3 ग्राम प्रतिदिन लेने से इस समस्या से राहत मिलती है।

👉उड़द की दाल और चावल की खिचड़ी को घी में मिलाकर दिन में 2 बार सेवन करें और उसके साथ मीठे गर्म दूध का सेवन करें। इस रोग से निजात मिल जाएगा।

👉5 ग्राम मिश्री और 5 ग्राम अश्वगंधा पाउडर ले, हल्के गर्म दूध में सुबह शाम लगातार पीने से शीघ्रपतन में लाभ मिलेगा।

केसर (saffron):

केसर को दूध में मिलाकर पीने से बहुत फायदे हैं। केसर ग्रहण करने से सेक्स की इच्छा ओर बढ़ जाती है। केसर के पांच से सात रेशों को दूध में उबालें। रात में सोने से पहले पी ले। शीघ्रपतन की बीमारी ठीक हो जाएगी।

मुलेठी:

शीघ्रपतन के रोग के साथ खांसी, जुकाम और गले की खराश में भी लाभदायक है। मुलेठी के आधा चम्मच चूर्ण को दूध में मिलाकर सुबह-शाम पिए। ठंडी में बनने वाले उड़द पाक या गोंद के लड्डू में भी मुलेठी चूर्ण का उपयोग किया जाता है।

अंडा(egg):

अंडा आपके हार्मोन को संतुलित करता है। हार्मोन संतुलन से सेक्स की इच्छा कम हो जाती है। इससे शीघ्र स्खलन में बहुत फायदा होता है। शाम को एक से दो अंडे का सेवन हर रोज कम से कम 1 महीने तक करना चाहिए। इससे आपके शीघ्र स्खलन में बहुत फायदा होगा।

👉काले चने से बने खाद्य पदार्थों का सप्ताह में दो से तीन बार सेवन करें।

सहजन:

शीघ्रपतन का सबसे सरल उपाय सहजन के फूलों में निहित है। 20 ग्राम सहजन के फूलों को 300 मिलीलीटर दूध में तब तक उबालें जब तक दूध 200 मिलीलीटर रह जाए। इस दूध का सेवन 15 दिन तक करें। संपूर्ण लाभ मिलेगा।

श्वेत मूसली:

  • श्वेत मूसली मर्दाना समस्याओं की रामबाण औषधि है।
  • सौ ग्राम श्वेत मूसली चूर्ण, शतावरी चूर्ण 100 ग्राम, अश्वगंधा चूर्ण 100 ग्राम, कांच बीज 100 ग्राम। सारी सामग्री मिलाकर पाउडर बना लें। इस पाउडर को रोजाना सुबह व रात को खाना खाने के आधे घंटे बाद एक गिलास हल्के गुनगुने दूध में मिलाकर पिए।
  • यह पाउडर यौन रोगों में रामबाण इलाज के रूप में प्रयोग किया जाता है।

गोक्षुर:

  • वात, कफ और पित्त को नियंत्रण रखने के लिए गोक्षुर सबसे अच्छी जड़ी बूटी है।
  • आधा चम्मच गोक्षुर चूर्ण को घी और शक्कर में मिलाकर, दिन में दो बार खाना चाहिए।

शीघ्र स्खलन से बचने के लिए खानपान में बदलाव के साथ जीवन शैली में भी कुछ बदलाव करें:

  • शराब, सिगरेट का त्याग करें
  • अपना वजन नियंत्रित करें
  • पोस्टिक आहार ले

नियमित रूप से व्यायाम करें:

कपालभाति, प्राणायाम अनुलोम विलोम करें । सर्वांगासन, मंडूकासन, हलासन, उष्ट्रासन आदि आसन करें।

स्टॉप एंड स्टार्ट (Stop & start) एक्सरसाइज:

सेक्स करते समय जब इजैक्यूलेशन का यानि एक्साइटमेंट पिकअप टाइम आने वाला हो तभी आपको 20 से 30 सेकंड का ब्रेक लेना चाहिए।

गहरी सांस (Deep breathing):

संभोग करते समय जब वीर्य निकलने जैसा लगे तब गहरी सांस लें। ऐसा करने से धड़कन कम हो जाएगी और वीर्य जल्दी नहीं निकलेगा।

कीगल एक्सरसाइज (Kegel exercise):

कीगल पेल्विक फ्लोर एक्सरसाइज है। इसमें पेल्विक मसल को कॉन्ट्रैक्ट और रिलीज करना है। दिन में चार बार, बीस काउंट के साथ करें। इससे 2 से 3 सप्ताह में असर दिखाई देने लगेगा।

👉श्वासन एक बहुत अच्छा आरामदायक (relaxation)आसन है। इससे मानसिक शांति मिलती है।

👉हमेशा हल्का और 4 घंटों के भीतर पचने वाला आहार ले।

👉रोज 30 से 45 मिनट चलना या भागना आपकी शक्ति को बढ़ा सकता है।

👉ज्यादा भरा हुआ पेट या मांसाहार खाने से भी शीघ्र स्खलन हो सकता है।

कुछ लोग इस समस्या को समझ नहीं पाते हैं या जान नहीं पाते हैं। और डॉक्टर को भी नहीं बताना चाहते। जिससे शीघ्र स्खलन की समस्या और बढ़ जाती हैं। लंबे समय तक शीघ्र स्खलन का इलाज ना कराने से व्यक्ति में नपुसंकता के लक्षण दिखाई देने लगते हैं। इसलिए शीघ्र स्खलन की समस्या बहुत दिनों से है तो डॉक्टर से अवश्य जांच कराएं और घरेलू या आयुर्वेदिक उपचार /इलाज कराएं अन्यथा आपके शरीर में खून और ताकत की कमी महसूस होगी।

यह भी पढ़े:

Leave a Comment